Sunday, April 18, 2010

आ गया है ......पाकेट साईज़ अल्ट्रासाउंड

दो महीने पहले ही GE कंपनी ने एक पाकेट साइज़ अल्ट्रासाउंड को लांच किया है। इस का वज़न केवल एक पांड है। और इसे डाक्टर स्टैथोस्कोप की तरह अपने साथ ही ऱख सकेंगे ताकि ज़रूरत पड़ने पर तुरंत मरीज़ का अल्ट्रासाउंड कर के उस का निदान किया जा सके।
इस से मरीज़ों को भी कितनी सुविधा होगी इस का अंदा़ज़ा वे लोग बेहतर ढंग से लगा पायेंगे जिन्हें अल्ट्रा-साउंड करवाने के लिये दूर दराज़ के गांवों से शहर की तरफ़ भागना पड़ता था ----केवल अल्ट्रासाउंड करवाने के लिये।
अभी मैंने सुना तो नहीं कि यह मशीन यहां पहुंच गई है ---लेकिन अगर बाहर लांच हो गई है तो इधर  आने में भी कितना समय लगेगा!!

फिटनैस वॉकिंग ----किताब के कुछ अंश

कुछ वर्ष पहले मैंने एक किताब खरीदी थी --फिटनैस वॉकिंग। मुझे यह बहुत पसंद आई। इस में कुछ पंक्तियों को मैंने ऐसे ही सहज भाव में रेखांकित कर दिया था। आज इसे देख रहा था तो ऐसा ध्यान आया कि इस की कुछ महत्वपूर्ण बातों को ही शेयर किया जाए।

Fitness Walking -- By Les Snowdon & Maggie Humphreys.
There are some quotes written on the first page --
"The difference between a good walker and a bad one is that one walks with his heart , and the other with his feet" .........W.H.Davies.
"If one just keeps on walking everything will be all right".......Soren Kierkegaard

आदमी पिछले 30 लाख वर्षों से टहल रहा है, पैदल चल रहा है ---लेकिन उस ने दौड़ना, भागना ( जॉगिंग) तो पिछले तीस-चालीस वर्षों से ही शुरू किया है। इस से यही शिक्षा मिलती है कि टहलिये, सैर कीजिये ----यह मत सोचिये कि भागने से ही ज़्यादा फायदा होगा।

From this book ---"Man has been walking at least three million years. He has been jogging for 30. The moral is simple: you dont have to break yourself with 'no pain, no gain' jogging -walk, dont run, Fitness walking is the 'best' exercise recommended by exercise physiologists, biomedical experts, cardiologists, chest experts, obesity experts and stress experts, among others.

Walking has always been a major form of transportation for Man, but only recently have the health and mental benefits of fitness walking become apparent.

फिटनैस वॉकिंग से सारी टेंशन, तनाव दूर भाग जाता है और इस के बाद हम बहुत रिलैक्स महसूस करते हैं।
"Fitness walking is a universal stress reliever. It energises you; helps you relax; makes you feel good about yourself; helps you cope with anything that life throws at you, especially in the work place. Walk to work, or part of the way; take a fitness walking break during the day; walk at least part of the way home; or take a walk in the evening. It will help you beat depression, and it will help you sleep better. Fitness walking is the best -- and cheapest--stress manangement system around.

अकसर मेरा भी सिर भारी होता है ---तो फिर मैं भी अगर उस समय टहलने के काबिल होता हूं तो 30-40 मिनट बाहर जा कर टहल आता हूं --- बस, सिर हल्का होते ही सब अच्छा लगने लगता है।

वैसे मैं नियमित टहलता नहीं हूं ---- इस के अनगिनत फायदे जानते हुये भी बिना वजह ऐसी हिमाकत करता हूं। पिछले कुछ दिनों से मेरे बाएं घुटने में थोड़ा दर्द सा होने लगा था ---मैंने थोड़ा टहलना शूरू किया है, बहुत अच्छा लगता है।

मैं अकसर सोचता हूं कि किसी भी डाक्टर के पास जाने से पहले हमें अपनी जीवन-शैली को पटड़ी पर लाना ही होगा ---हम क्या खाते हैं, हमारी क्या आदते हैं, अल्कोहल-सिगरेट बीड़ी आदि क्या ले रहे हैं, क्या रोज़ाना तीस-चालीस मिनट टहलते भी हैं या बस एक जगह स्थूल पड़े ही रहते हैं ---- ये सब बातें ठीक ठाक करने के बाद ही उस " डाक्टर रूपी भगवान " ( ?) के पास जाना ठीक है, वरना उस का नुस्खा कितना फायदा कर पाएगा  ? हां,  एमरजैंसी के लिये तो ठीक है, जो हमें सचेत करने के लिये है कि भई, अब भी संभल जाएं वरना बाद में मत कहना कि किसी ने पहले नहीं चेताया।