Sunday, June 28, 2015

यह लखनऊ की सरज़मीं ..२८.६.१५

अपराधी बेखौफ़ -- रिटायर अधिकारी के घर १ करोड़ का डाका

शुक्रवार रात नकाबपोश १० डकैतों ने रिटायर डिप्टी कमिश्नर (फूड) रामपलट पाण्डेय (६८) के घर धावा बोला और लगभग एक करोड़ रूपये की नकदी-जेवर लूट कर फरार हो गए। बदमाश डेढ़ घंटे तक घर में करते रहे लूटपाट।

असलहे से लैस बदमाशों ने गेट पर सो रहे मजदूर के हाथ पैर बांध कर बगल के प्लॉट में फेंक दिया। बंगले में दाखिल हुए बदमाशों ने रामपलट, उनकी पत्नी और बच्चों के हाथ-पांव बांध दिए। 

बदमाशों ने अलमारी व लॉकर तोड़कर २० लाख रूपये, २०० यू एस डॉलर, ७० लाख रूपये से अधिक के जेवर बैग में भर लिए। डकैत अपने साथ छह लाख रूपये कीमत की विदेशी रिवाल्वर भी ले गए। 

रामपलट ने बताया कि एक बदमाश ने उनसे कहा कि --अंकल-आंटी डरो नहीं, हम रूपये ले जाएंगे..चुप रहोगे तो कुछ नहीं करेंगे। 

जनेश्वर पार्क के लिए स्पेशल बस आज से 

अब प्रत्येक रविवार को गोमतीनगर स्थित जनेश्वर मिश्र पार्क के लिए सिटी बसें चलेंगी। १६ स्पेशल बसें शहर के नौ मुख्य बस स्टाप से हर घंटे रवाना होंगी। बसों का संचालन सुबह ११ से रात आठ बजे तक होगा। बस का किराया न्यूनतम १५ वे अधिकतम ३५ रूपये होगा। उस पार्क में जाने के लिए आटो टेम्पो की सुविधा नहीं है। इस वजह से आम जनता की सुविधा के लिए विशेष सिटी बसें चलेंगी। 
                     इस लिंक को भी देखिए...जनेश्वर पार्क से बढ़िया पार्क नहीं देखा। 

इमामबाड़े में पर्यटकों के पहनावे पर एतराज

बड़ा इमामबाड़ा २२ दिन बाद शनिवार को पर्यटकों के लिए खुल गया। लेकिन महिला पर्यटकों के पहनावे को लेकर तनातनी हो गई। विरोध कर रहे लोगों का तर्क था कि इमामबाडा इबादतगाह है। यहां कम कपड़ों में महिलाओं का प्रवेश वर्जित है। उस पर वहां मौजूद गाइडों में नोकझोंक हुई। विदेशी महिला पर्यटक समेत अन्य ऐसी महिलाओं जिनके कपड़ों पर आपत्ति थी उन्हें मुख्य परिसर में जाने से रोक दिया। 

एसटीएफ ने केजीएमयू से दो डॉक्टरों को उठाया

मध्य प्रदेश के व्यापम् (व्यावसायिक परीक्षा मंडल) घोटाला की जड़ें केजीएमयू में गहरी जमी हुई हैं। इस घोटाले में शामिल होने के आरोप में साल्वरों की तलाश में एमपी एसटीएफ ने दो डॉक्टरों को गिरफ्तार किया है। एक डॉक्टर को तो पुलिस ने केजीएमयू के हॉस्टल मे दबोचा। आनन-फानन में डॉक्टर को हॉस्टल से बेदखल कर दिया गया है। 

अब डिवाइडरों पर फर्राटा भरेंगी साइकिल 

बडे पैमाने पर सड़क के बीच में डिवाइडर पर साइकिल ट्रैक बनाने की तैयारी है। सबसे ज्यादा साइकिल ट्रैक एलडीए कालोनियों में बनाए जाएंगे। गोमतीनगर में साइकिल ट्रैक बनाने के लिए ३० करोड़ रुपए स्वीकृत।