Sunday, May 10, 2009

कब लगवायें ब्रेसेज़ बच्चों के ऊबड़-खाबड़ दांतों के लिये ?

अकसर हम से यह प्रश्न बहुत बार पूछा जाता है कि किस उम्र में बच्चे के दांतों पर ब्रेसेज़ लगवाई जायें। इस का सीधा सीधा जवाब है कि सब से पहले तो आप इस बात का ध्यान रखें कि बच्चे को बिना किसी तकलीफ़ के भी किसी प्रशिक्षित दंत-चिकित्सक के पास छः महीने के बाद अवश्य चैक-अप के लिये ले कर जाने की आदत डाल लें।

इस नियमित चैक-अप का यह फायदा होगा कि शायद इस ब्रेसेज़ की ज़रूरत ही न पडे़ क्योंकि जो भी ज़रूरी इलाज होगा अगर दंत-चिकित्सक ठीक समय पर ही करता रहेगा तो फिर बहुत से केसों में ब्रेसेज़ से बचा जा सकता है और अगर ब्रेसेज़ लगवाने की नौबत आती भी है तो बहुत कम समय में ही यह ऊंचे, ऊबड़-खाबड़ दांतों की समस्या हल सी होने लगती है।

अब इस 12 वर्ष की बच्ची के दांतों की कुछ तस्वीरें देखते हैं जिन ने द्वारा बस आप को यह छोटा सा ट्रेलर सा दिखाने की कोशिश की जा रही है कि बच्चों का नियमित दंत-निरीक्षण करवाना कितना ज़रूरी है। और ज़रूरत पड़ने पर दंत-चिकित्सक एक ओ.पी.जी एक्स-रे की भी सलाह देता है जिस में सभी दांत एक ही एक्स-रे में देख लिये जाते हैं।

ये तस्वीरें मैंने अपनी फ्लिकर फोटोस्ट्रीम से डाली हैं। कृपया नोट करें कि ये जो नीचे तस्वीरें दी गई हैं इन का विवरण पढ़ने के लिये आप को इन पर बारी बारी से क्लिक करना होगा और फिर उस फोटो पर कर्सर लेकर जाने से जो बाक्स दिखेंगे उन पर कर्सर लेकर जाने से आप कुछ विशेष जानकारी (नोट्स) भी देख पायेंगे। बतलाईयेगा, कैसा लगा इस तरह से फोटो एवं उस से संबंधित जानकारी को पढ़ना !

DSC02663

( इन सभी फोटो पर बारी बारी से क्लिक करना होगा---विस्तृत जानकारी के लिये)

DSC02664


DSC02665


DSC02666

अगर अभी भी किसी के मन में यही विचार है कि बच्चा 12 वर्ष का होने दें तब ही दंत-चिकित्सक के पास जा कर ब्रेसेज़ का पता कर लेंगे, यह केवल भ्रम मात्र है । इस से बेवजह टेढ़े-मेढ़े दांतों का इलाज पेचीदा हो सकता है।