Monday, January 19, 2015

बिना तकलीफ़ के भी रक्तचाप जांच ?

यह पोस्ट केवल हम सब को यही याद दिलाने के लिए कि ज़रूरी नहीं कि सिर बहुत तेज़ दुखे, चक्कर आए तो ही उच्च रक्तचाप की शिकायत हो सकती है, ऐसा हो भी सकता है, लेकिन ऐसा बहुत बार होता है कि उच्च रक्तचाप बहुत बढ़ जाने के बावजूद भी कोई ऐसा लक्षण पैदा नहीं करता जिस की वजह से कोई व्यक्ति किसी चिकित्सक से परामर्श करे।

लेकिन यह बात भी तय है कि इस तरह से बड़ा हुआ रक्तचाप अंदर ही अंदर शरीर के विभिन्न अंगों पर अपना बुरा असर तो निरंतर छोड़ता ही रहता है। इसलिए कभी कभी अपने रक्तचाप की जांच करवाते रहना चाहिए।

इस विषय पर हम सब इस बुज़ुर्ग के केस से कुछ सीख ले सकते हैं.....इंक-ब्लॉगिंग के ज़रिए..






जिन बुजुर्ग के बारे में मैंने लिखा है, इन की ईसीजी भी हुई ..सामान्य थी......अभी इन की आंखों की जांच भी होगी, क्योंिक बड़ा हुआ रक्तचाप आंखों पर भी अपना कुप्रभाव छोड़ सकता है।

कागज़ के चंद पुर्जे पढ़ कर बिल्कुल भी सीरियस होने की ज़रूरत नहीं, मैं तो ऐसे ही एक्सपेरिमेंट करता रहता हूं....आप इत्मीनान से पुराने जमाने का यह गीत सुन कर अपने रक्तचाप को काबू में रखिए........मैं शायर तो नहीं ..जब से देखा मैंने तुझको...मुझको शायरी आ गई।