Friday, December 18, 2009

भारत का पहला नेशनल मैडीकल ई-न्यूज़ पेपर

कल के समाचार पत्र से पता चला कि भारत का पहला मैडीकल ई-न्यूज़ पेपर लांच हुआ है। डा के के अग्रवाल सुप्रसिद्ध कार्डियोलॉजिस्ट, इस के मुख्य संपादक हैं, जिन्हें हम सब टीवी के विभिन्न चैनलों पर देखते भी रहते हैं और समाचार-पत्रों में सेहत संबंधी विषयों पर उन से सरल सटीक जानकारी भी हासिल करते रहते हैं। इस समाचार-पत्र का लिंक यह है

जैसा कि आप डा अग्रवाल के बारे में जानते ही हैं कि वे जनमानस तक अपनी बात कितनी सहजता से बिल्कुल सरल भाषा में कह जाते हैं, मैं तो दूरदर्शन पर उन की इंटरव्यूज़ का बड़ा प्रशंसक रहा हूं। इसलिये उम्मीद है कि अब इस पेपर के माध्यम से नेटयूज़र्स को मैडीकल फील्ड की ताज़ा-तरीन जानकारी मिलती रहा करेगी। आशा है कि आप इसे नियमित देखने की आदत डालेंगे।

" To live > 80 years remmeber the ABC of Heart prevention through the formula of 80 [Keep your Abdominal Circumference < 80 cm, Lower BP < 80 mm Hg, LDL (bad)Cholesterol < 80 mg%, Pulse < 80/minute and Fasting Sugar < 80 mg%".

डा अग्रवाल जी के अनुसार --- अगर आप अस्सी साल से ज़्यादा जीने की तमन्ना रखते हैं तो हृदय रोग से बचाव के लिये फार्मूला नंबर 80 के द्वारा इस की ए-बी-सी जान लें --- अपनी कमर का नाप 80 सैंटीमीटर से कम रखें, नीचे वाला बीपी ( डॉयस्टोलिक बी पी) 80 से कम रखें, एल डी एल ---बुरे कोलेस्ट्रोल का स्तर 80 से कम रखें, ध्यान करें कि आप की नबज 80/मिनट से कम ही रहे, और आप का फास्टिंग ब्लड-शूगर 80 मि.ग्राम % से कम रहे।

कितनी पते की बात डाक्टर साहब द्वारा कही गई है --- बस, अब उन के द्वारा शुरू किये गये अखबार से भी नित-प्रतिदिन इसी तरह की बहुत अहम् बातें पढ़ने को मिला करेंगी ---जो कि हम सब को अपनी सेहत के बारे में सोचने पर मज़बूर किया करेंगी। अगर हम उन के द्वारा कही एक बात (जैसे कि ऊपर वाला फार्मूला नं 80) ही मानना से शुरूआत करें तो हमारी सेहत में बहार आ जायेगी। फिर सोच क्या रहे हैं, अभी देखिये इस मैडीकल ई-न्यूज़ पेपर को और इसे बुक-मार्क कर लीजिये।

वैसे मैं तो पूरी कोशिश किया हूी करूंगा कि जो भी चीज़ मुझे वहां पर नईं दिखा करेगी उस का सार आप तक हिंदी में लिंक सहित पहुंचाया करूंगा।

PS... मैंने पिछले लगभग चालीस दिन में यह जाना कि writer's block किसे कहते हैं ---बस ऐसे ही कुछ भी लिखने की चाह ही नहीं हो रही थी। अब फिर से नियमित हो जाऊंगा। अभी कुछ दिन 9th Indian Science Communication Congress में व्यस्त रहूंगा ----लौट कर बहुत सी बातें आप से साझी करूंगा।

10 comments:

  1. writer's block.....!
    pls avoid this...!

    मेडिकल न्यूज़पेपर की बधाइयाँ...!

    आपके अगले पोस्ट की प्रतीक्षा मे..!

    ReplyDelete
  2. अच्छी और उपयोगी जानकारी -मगर लिंक नहीं खुल रहा

    ReplyDelete
  3. बड़ा अच्छा अखबार बताया। और ये 80 का फारमूला पसंद आया।

    ReplyDelete
  4. किन्तु इससे लाभ कितना होगा? अंग्रेजी में तो वैसे ही दुनिया भर की जानकारी है। इस न्यूजलेटर की भाषा सरल हिन्दी होती तो कुछ बात बनती।

    ReplyDelete
  5. आपका नियमित होना हिंदी ब्लोगिंग के लिए मायने रखता है ..वैसे मुझे मनोरोग पर आने वाली हिंदी पत्रिका मनोवेद काफी पसंद है. आशा है आप नियमित हीरहेंगे.

    ReplyDelete
  6. डा. साब, नेट जगत में मेरा ब्लॉग अभी नया नया ही है लेकिन एक दर एक लिंक से जुड़ते हुए मैंने आपका ब्लॉग पढ़ा तो यकीन मानिए बहुत खुशी हुई कि हिन्दी में आप निरंतर वो चीजें लिख रहे हैं जिनकी आज लोगों को सचमुच जरूरत है| लिखने वाले तो बहुतेरे हैं जिनमे मैं भी शामिल हूँ मगर आप का लिखा हुआ लोगों के लिए बहुत फायदेमंद रहेगा क्योंकि मेडिकल फील्ड के बारे में बहुत कम सामग्री हिन्दी में आती है| पत्रिकाएँ एक ढर्रे पर आ गयी हैं | अनुरोध है कि सतत लिखते रहें|
    -रमेश शर्मा, रायपुर-छत्तीसगढ़

    ReplyDelete
  7. चोपडा साहब नमस्कार आप ने बहुत अच्छी जान्कारी दी, गर बलड प्रेशर कम हो तो क्या करना चाहिये, मैरे बडे बेटे का बल्ड प्रेशर बहुत कम है.
    धन्यवाद

    ReplyDelete
  8. Thanks for the info, Dr Chopra

    ReplyDelete