Sunday, April 24, 2016

दांतों मसूड़ों की जटिल बीमारियां बिना किसी लक्षण के ...

आज मैं इस पोस्ट में एक ५० वर्ष के पुरूष के मुंह की कुछ तस्वीरें लगा रहा हूं...यह मेरे पास कल आए थे..


ये सभी चार तस्वीरें इन के मुंह के अंदर की हैं...मैंने इन तस्वीरों को एक उदाहरण के तौर पर इसलिए लगाया है क्योंकि इस से कोई भी यह समझ पायेगा कि किस तरह के दांतों और मसूड़ों की गंभीर बीमारियां बिना किसी लक्षण के ही निरंतर पनपती रहती हैं। 

इस पुरूष को भी अपने दांतों और मसूड़ों में कभी किसी तरह की कोई तकलीफ हुई नहीं...ये तो मेरे पास केवल इसलिए आये हैं क्योंकि इन्हें एक हिलते हुए दांत में कुछ दिनों से खाना खाते समय कुछ परेशानी होने लगी है। 
इन के आने का बस इतना सा कारण है, और यह कल किसी डेंटिस्ट के पास पहली बार आए थे..

मैंने इन्हें पूछा कि कभी दांतों में ठंडा गर्म लगता है, कभी मसूड़ों से रक्त बहता है अपने आप या ब्रुश करते समय...इनका जवाब था ...नहीं। 

यह तो हो गई बात जो इन्हें कही ..वास्तविकता यह है कि इन के मुंह में पायरिया रोग एक एड्वांस स्टेज में है ...सभी लक्षण दिख रहे हैं..दांतो के ऊपर इतने ज्यादा टारटर, मसूड़ों की सूजन और उन से होने वाला रिसाव और छः सात दांत तो पूरी तरह से हिल रहे थे...

यह पोस्ट सिर्फ यह संदेश पाठकों तक पहुंचाने के लिए है कि अगर आप को दांतों और मसूड़ों में कोई परेशानी नहीं भी है, और अगर आप यह समझते भी हैं कि सब कुछ ठीक ठाक है ...तो भी हर छः महीने के बाद किसी डेंटिस्ट से अपने मुहं का परीक्षण अवश्य करवा आया करिए...ऐसा करने से इस मरीज़ जैसी नौबत नहीं आयेगी...बीमारियां अगर हैं भी तो प्रारंभिक अवस्था में ही पकड़ में आ जायेंगी और आसानी से जल्द ही उन का पूर्ण इलाज भी हो जायेगा।

उम्मीद है कि आप को इस पोस्ट से कुछ सबक मिल गया होगा...अगर हां, तो अच्छा है, मेरी मेहनत सफ़ल हुई...

OK...All the best for your next oral health check-up! 


No comments:

Post a Comment